सपना

वक्त अपना काम कर रहा है,

चलने का।

दुनिया काम कर रही है अपना,

चलने का।

आप भी अपना काम कर रहे हो,

जीवन आगे बढाने का।

सही है।

सब अपने अपने काम में लगे हुए हे,

और करते रहेंगे जीवन के अंत तक,

बिना कोई गलती किये।

सही है।

क्या इतना काफी है?

जीवन जीने के लिये?

हा, काफी है, अगर जीवन व्यतित करना है तो।

लेक़िन अगर चाहते हो कूछ ज्यादा जिंदगी से?

तो क़ुछ अलग करना होगा।

नहीं, में पैसा कमाने की बात नहीं कर रहा।

ना ही ज्यादा महेनत करने को कह रहा हु।

में बात कर रहा हु उसकी जो आप लंबे समय से करना चाहते थे।

लेकिन नही किया अभी तक।

जो आपको पसंद है, लेकिन संजोगो ने कर ने नहीं दिया।

और आगे भी नहीं करने देंगे, अगर आज आपने कदम न उठाया तो।

तो उठाओ कदम और जिलो अपना सपना।

9 Comments Add yours

  1. Aman Thakur says:

    Wow..Awesome…:-)

    Liked by 1 person

      1. Aman Thakur says:

        You are welcome bro..:-)

        Liked by 1 person

  2. neha98blog says:

    To read these motivational words beneath your writing is one that interprets a deeper significane.

    Liked by 1 person

  3. ssunshine14 says:

    Kya Khoob likha hai👏🏻👏🏻

    Liked by 1 person

    1. D!vY@ng Sh@h says:

      Hope you are living your सपना! आभार ☺

      Liked by 1 person

      1. ssunshine14 says:

        Yeah creating one 😎

        Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s